Apps kaise banate hain ? New Method हिंदी में सीखे

apps kaise banate hain

क्या आप भी apps बनाना चाहते है ? अगर हा तो आपके मन से सबसे पहला सवाल की apps kaise banate hai और क्या आपको इसका जबाब अभी तक मिला ? अगर नही तो इस पोस्ट में पूरी जानकारी मिलेगी

इस पोस्ट में आप सीखेंगे की :-

  • Apps Kaise banate hai
  • Android apps banane ke liye kya kya sikhna parta hai
  • Android apps banane ke liye kis software ki jrurat hogi
  • Bina Coding ke Apps kaise banaye
  • Android apps developer karke paise kaise kamaye
  • Thunkable se app kaise banaye

सबसे पहले आप सभी दोस्तों का दिल से धन्यवाद् की मेरे ये ब्लॉग को टॉप ब्लॉग के लिस्ट में आपके वजह से जगह मिली है तो अब चलते है पूरी डिटेल्स जानकारी के तरफ और जानते है की आखिर ये apps को बनाते कैसे है |

Apps kaise banate hain

apps kaise banate hain

किसी भी apps को बनाने से पहले आपको ये जानकारी जरुर होनी चाहिए की आखिर लोग apps को पसंद क्यों करते है और क्या apps एंड वेबसाइट में कोई अंतर होता है अगर होता है तो फिर लोग किस चीज को ज्यादा पसंद करते है ? apps या वेबसाइट ?

मेरे दोस्तों, असल में apps का कांसेप्ट बाद में आया , पहले तो जो भी इन्टरनेट से रिलेटेड पब्लिक वाला काम होता था सब वेबसाइट से ही होता था क्योकि पहले कंप्यूटर हो या स्मार्ट फ़ोन इसके यूजर बहुत कम होते थे लेकिन अब हर इन्सान के हाथ में एक स्मार्ट फ़ोन जरुर होता है |

जब धीरे धीरे इन्टरनेट की पॉपुलैरिटी बढ़ी तो स्मार्टफोन के यूजर भी बढे ऐसे में आप जिस भी ब्राउज़र से वेबसाइट को ओपन करते है उसकी पॉपुलैरिटी भी बढ़ी लेकिन उसी बीच एंड्राइड भी पोपुलर हो गया और एंड्राइड की सभी बड़ी खासियत ये है की कोई भी एंड्राइड डेवलपर फ्री में एंड्राइड apps को बना सकता है उसके लिए गूगल एक रुपया भी चार्ज नही लेता है जिससे फायदा यह हुआ की एंड्राइड डेवलपर धीरे धीरे बहुत होने लगे और फिर एंड्राइड अलग अलग फीचर को सपोर्ट करना शुरू कर दिया |

Apps और Web ब्राउज़र में क्या अंतर है

अब समझते है की apps और web ब्राउज़र में क्या अंतर है, असल में web ब्राउज़र भी एक apps ही है मतलब की एक सॉफ्टवेर जो की किसी न किसी OS मतलब ऑपरेटिंग सिस्टम पर रन करती है , जैसे की गूगल क्रोम , Windows हो या MAC हो या एंड्राइड सभी OS पर रन करती है लेकिन ये ब्राउज़र OS के सभी फीचर को जरूरी नही है की सपोर्ट करेगी , मतलब ये हुआ की

अगर सिर्फ वेबसाइट है तो उस वेबसाइट को किसी web ब्राउज़र से ही देख सकते है और पूरी तरह web ब्राउज़र पर depend होना होगा लेकिन अगर आप ऐसा चीज दुनिया के सामने लाना चाहते है जो की अलग experince दे तो उसके लिए native apps आपको बनानी होगी और इसी कारण लोग धीरे धीरे वेबसाइट के साथ साथ अपने ब्रांड का खुद का apps भी बनाना स्टार्ट कर दिए |

अब तो ये हाल है की हर कोई चाहता है की उसका खुद का एंड्राइड apps रहे ताकि प्रोफेशनल लगे | आप खुद इसको ऐसे समझ सकते है की , फेसबुक हो या Instagram ये सब वेबसाइट गूगल क्रोम में भी open होती है और इसका खुद का native apps भी है In other Words जब इसके वेबसाइट को open करते है तब और जब इसके apps को चलाते है तब दोनों में बहुत अंतर होता होगा |

Apps banane ka tarika किस तरीका से अप्प्स बनाया जाता है

चलिए अब तो आप apps का वैल्यू समझ गये होंगे और ये भी की आखिर ये apps जो है वेबसाइट से अलग कैसे है और दोनों का अपना अपन फायदा अपने अपने जगह पर है लेकिन अभी भी सवाल ये है की apps कैसे बनाते है ?

देखिये यूँ कहा जाते तो apps बनाने के लिए बहुत साडी चीजो को सीखना होता है क्योकि एंड्राइड apps को अगर आप बनाने चलेंगे तो सबसे पहले आपको at least programming language जरुर आनी चाहिए |

Apps बनाने के लिए किस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की जरूरत होती है ?

अगर आप प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की बात करे तो कम से कम आपको basic java जरुर आणि चाहिए , भले ही आप एडवांस java नही सीखे होंगे लेकिन जब तक basic java नही आएगी तो आपको बाद में अच्छी अच्छी एप्लीकेशन को डेवेलोप करते टाइम बहुत दिक्कत आयेगी इसलिए अगर सच में आप एंड्राइड apps development के फील्ड में घुसना चाहते है तो basic java जरुर सीख लीजियेगा |

Read Also : Blocked Website को कैसे खोले ? जानिए इस ट्रिक को और फायदा उठाईये

अब आपके मन में एक सवाल आता होगा की अगर आपको कोई प्रोग्रामिंग लैंग्वेज नही आती है मतलब की coding नही आती है तो क्या आप apps नही बना सकते है ? तो इसका जबाब है यार आप बिना coding के भी apps को बना सकते है , लेकिन कैसे ?

क्या कोई ऐसी कंपनी है जिसके tools के मदद से आप apps create कर सकते है ? तो चलिए अब इसी के बारे में जानते है की

Bina Coding ke Apps kaise banaye ?

अगर आप भी ऐसे लोगो में से है जो की coding सिखने में टाइम नही देना चाहते है लेकिन ये भी चाहते है की apps develop करे ताकि जैसे दुसरे apps डेवलपर पैसे कमाते है वैसे आप भी खूब पैसे कमाएंगे तो ऐसे में आपको किसी दुसरे सॉफ्टवेर पर depend होना होगा |

Read Also : Android Apps kaise banaye

ऐसे तो मार्केट में बहुत सारे है और सबका नाम लिखना या लिस्ट बनाना पॉसिबल नही है क्योकि हर महीने कोई न कोई नयी कंपनी आ जाती है जिसके tools का इस्तेमाल करते आप अच्छे लेवल की apps बना सकते है , सिलिये कोई एक कंपनी का नाम बता देता हूँ|

Thunkable se apps kaise banate hai

thunkable se app kaise banaye

चलिए अब जानते है की बिना coding के ही apps kaise banate hai , जैसा की मैंने बताया की बहुत सारी कंपनी है तो उसी में से ऑनलाइन apps बनाने वाली कंपनी है thunkable जो की सिर्फ drag एंड drop करके ही apps बनाने वाली फीचर देती है |

इसके tools बहुत ही कमाल के है और इसका इस्तेमाल करके आप भी अपने मनचाहे apps को बना सकते है लेकिन जैसा की मैंने शुरुआत में ही आपसे कहा है की अगर आप high level की apps बनाना चाहते है तो फिर किसी दुसरे पर depend नही होईये और जा कर चाहे ऑनलाइन हो या ऑफलाइन लेकिन basic java सीखिए फिर उसके बाद एंड्राइड development का course ज्वाइन करके learn करियेगा ताकि आप एंड्राइड development के फील्ड में मास्टरी हासिल कर सके |

Android apps with html css and javascript

मेरे एक दोस्त ने एक और सवाल पूछा था की जो आदमी सिर्फ html और javascript जानता हो मतलब की web development की चीजे जानता हो तो क्या वो apps को बना सकता है ? तो इसका जबाब है yes, वो भी बना सकता है लेकिन उसके लिए अलग से फ्रेमवर्क की जरूरत पड़ती है जिसकी चर्चा मैंने दुसरे पोस्ट में किया है |

Read Also : बिना इन्टरनेट के पैसे कैसे भेजे ? गजब का तरीका 100% Working

चलिए अब तो आप समझ गये होंगे की Apps kaise banate hain?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here