End to End Encryption Kya hota hai

End to End Encryption से पहले आपको एन्क्रिप्शन के बारे में जानना बहुत ही जरूरी है फिर एंड तो एंड एन्क्रिप्शन समझेंगे |

देखिये जब भी आप किसी को कोई मेसेज भेजते है तो आप सोचते होंगे की काश ऐसा होता की अगर इस मेसेज को कोई देखे तो भी आपके मेसेज को समझ ही न पाए तो इसके लिए एक system बनाया गया जिसे Encoding या Encryption का सकते है इसमें एक algorithm होता है जिसके आधार पर आपके मेसेज को किसी ऐसे format में बदल दिया जाता है जिसका कोई भी meaning नही निकलता है |

अगर ऐसी मेसेज को कोई देख भी लेगा तो भी कोई नुकसान नही होगा क्योकि वो तो encrypted हो चूका होगा ,लेकिन आपको ये भी जानकारी होनी जरूरी है की अगर किसी एक्सपर्ट को ये मालूम हो जाये की ये एन्क्रिप्शन करते वक़्त किस algorithm का इस्तेमाल हुआ है तो ऐसे में आपके मेसेज को decrypt भी किया जा सकता है |

इसलिए इससे भी अच्छी security है end to end encryption और इसको स्टार्ट किया WhatsApp ने |

आईये जानते है की WhatsApp End to End Encryption Kya hota hai

End to End Encryption Kya hota hai
Img Credit : cloudtweaks

जैसा की आपको ये मालूम हो गया है की एन्क्रिप्शन करने के बाद भी अगर algorithm मालूम होगा तो मेसेज को डिकोड किया जा सकता है इसलिए अगर आप End to End Encryption इस्तेमाल करेंगे|

End to End Encryption में होगा ये की आप जब मेसेज भेजेंगे तो आपका मेसेज फुल्ली encrypted हो जायेगा और इस तरह से encrypted होगा की खुद whatsapp के मालिक भी उस मेसेज को नहीं पढ़ पाएंगे की क्या लिखा हुआ है क्योकि हर user के लिए special के generate अपने आप होता है और जिसको भेजना है उसका भी special key generate होता है जिससे ये होगा की जब तक ओरिजिनल दोस्त के पास मेसेज नही पहुचेगा तब तक उस मेसेज को decode नही किया जा सकता है |

अब आप ये तो जरुर समझ गए होंगे की अगर आप whatsapp पर किसी से भी चैट कर रहे होंगे तो न ही कोई एक्सपर्ट और न ही आपको government आपके मेसेज पर नजर रख सकती है |

ये भी पढ़े :

और इसी कारण से ये  सबसे सिक्योर तरीका है किसी से भी बात करने के लिए तो अब तो आप समझ गये होंगे की End to End Encryption Kya hota hai