हेल्लो दोस्तों, जैसे ही ये टाइटल आप पढ़े होंगे की फेसबुक को भी आधार नंबर से लिंक करना पड़ेगा तो जरुर चौंक गये होंगे की ये क्या हो रहा है इस देश में और आपको थोड़ी चिंता भी हो रही होगी आपके आधार डाटा के प्राइवेसी को ले कर तो आईये इस टॉपिक पर क्या है असल में सच्चाई, इसके बारे में जानेंगे इसलिए इस पोस्ट को पूरा पढियेगा |

असल में ये न्यूज़ वायरल इसलिए हो रही है क्योकि जब लोग अपना न्यू अकाउंट फेसबुक पर बनाने जाते है तो उनको वहां पर आधार शब्द देखने को मिलता है तो लोग इस बारे में सोशल मीडिया पर चर्चा करने लगे की अब फेसबुक को भी आधार नंबर से लिंक करना पड़ेगा लेकिन दोस्तों पहले आप इस फोटो को देख लीजिये जो फेसबुक के ऑफिसियल वेबसाइट पर दिख रहा है facebook aadhar card linkअब आप खुद देखिये की यहाँ पर ये लिखा हुआ है आप अगर फेसबुक पर नए है और फेसबुक को ज्वाइन करना चाहते है तो आप अपना नाम वही लिखे जो आपके आधार कार्ड में लिखा हुआ है और ये टेक्स्ट सिर्फ इंडियन यूजर के लिए ही दीखता है |

Using the name on your Aadhaar card makes it easier for friends to recognise you.

अब इसी बात को ले कर लोगो ने इसे issue बना दिया की फेसबुक आधार लिंक करना चाहता है लेकिन जब ये मामला तूल पकड़ने लगा तो फेसबुक ने बोला की वो आधार डाटा को कभी कलेक्ट नही करेगा |

क्या नुकसान होगा अगर फेसबुक आधार नंबर को लिंक करना चाहे तो ?

देखिये , आधार में आपका जो भी डिटेल्स है वो सब डिटेल्स UIDAI के डेटाबेस में स्टोर है और अगर कोई भी कंपनी अगर आपका डाटा एक्सेस करना चाहे तो पहले उसको भारत सरकार के UIDAI से परमिशन लेनी होगी ताकि डेटाबेस से कनेक्ट कर सके और अगर फेसबुक ऐसा करता है तो इसका मतलब ये होगा की भारत सरकार ने एक्सेस करने की ऑफिसियल परमिशन दे दी है , और आप सभी लोग जानते है की फेसबुक एक विदेशी कंपनी है ऐसे में पुरे इंडिया के लोगो का पूरा रिकॉर्ड दुसरे देश के पास हो जायेगा इसलिए भारत सरकार कभी भी ऐसी गलती नही करेगी और ऐसी कोई सिस्टम आएगा भी तो प्राइवेसी प्रोटेक्शन लॉ के अंदर ही डाटा शेयर किया जायेगा |

अगर फेसबुक लिंक नही करना चाहता तो ऐसा मैसेज क्यों लिखा ?

देखिये फेसबुक इस दुनिया में इसलिए आया की एक दुसरे लोगो को कनेक्ट कर सके और दोस्तों अगर आपका कोई बचपन का दोस्त फेसबुक पर है लेकिन अगर वो अपना निक नाम से अकाउंट बनाया है तो आप कैसे उसको खोज पाएंगे ? लेकिन अगर वो ऑफिसियल नाम जो आधार कार्ड में है तो वही नाम से बनाने पर एक लोग दुसरे लोग को खोज कर जुड़ पाएंगे इसलिए फेसबुक सिर्फ सलाह दे रहा है की अगर आधार कार्ड वाला नाम से ही अकाउंट बनायेंगे तो लोगो को जुड़ने में आसानी होगी |

आशा करता हूँ की आप सभी बात को समझ गये होंगे और अगर ऐसा है तो आप अपने दोस्तों को भी इस वेबसाइट को शेयर करे ताकि उनको भी जानकारी मिलती रहे |