B.ed करने के फ़ायदे ज़रूर जाने

आज के इस पोस्ट में आप समझेंगे की B.Ed Karne Ke Fayde क्या क्या होते है क्योंकि आजकल जिसको देखो सब B.Ed करने के लिए जोड़ देता रहता है इसलिए आज इसके बारे में details में समझेंगे ।

B.Ed Kya Hai?

B.Ed का Full Form Bachelor of Education होता है और ये कोर्स ग्रैजूएशन के बाद किया जा सकता है वैसे अब इंटेग्रेटेड कोर्स में intermediate के बाद भी किया जा सकता है। इस कोर्स की मान्यता NCTE देता है।

b.ed karne ke fayde

इस कोर्स को बहुत लोग इसलिए करते है ताकि वो सरकारी या private स्कूल में टीचर मतलब की शिक्षक बन सके । अगर कोई आपसे ये पूछे की Teacher कैसे बने तो उसके लिए आपका जबाब यही होगा की पहले B.Ed का कोर्स ट्रेनिंग पूरा करे।

Read Also : Online Class Kaise Shuru Kare In Hindi

ये कोर्स एक शिक्षक प्रशिक्षण कोर्स है और इसके बाद भी अगर आपको सरकारी टीचर बनना है तो कोर्स पूरा करने के बाद आपको state का TET exam clear करना होगा।

B.Ed karne Ke Fayde?

  • सरकारी शिक्षक बनने के लिए ये कोर्स करना अब अनिवार्य है
  • CTET या STET exam में बैठने के लिए ये ज़रूरी है
  • अगर अब आप private स्कूल में भी टीचर के पोस्ट पर नौकरी करना चाहते है तो ट्रेनिंग कोर्स ज़रूरी है

दोस्तों, आजकल अगर किसी कोर्स का क्रेज़ बढ़ा है तो वो बी एड कोर्स का हाई क्रेज़ बढ़ा है ऐसे में आप इस कोर्स को करते है तो आगे CTET के परीक्षा में बैठ के क्लीर कर सकते है फिर टीचर बन सकते है।

bihar combined entrance b.ed entrance cet

वैसे अगर आप बिहार से बी एड करना चाहेंगे तो इसमें Admission के लिए भी आपको पहले entrance का exam देने होगा उसके बाद counselling होगा फिर जाकर आपको किसी कॉलेज में admission होगा।

वैसे एक बात आपको बताना बहुत ज़रूरी है की आजकल फ़र्ज़ी कॉलेज भी admission के नाम पर पैसे ठग लेते है इसलिए मैंने एक विडीओ बनाया है जिसमें बताया हूँ कि कैसे पता करे कि कोई कॉलेज मान्यता प्राप्त है या नही तो ये ज़रूर देखे।

इसको शेयर जरुर करे और दुसरो को मदद करे
Ajay Kumar

He is a web developer, social media influencer and core programmer who love to write code, apart from this he loves to write tech article and share via social media. Right Now I Am A YouTuber And Investor In Share Market And Mutual Funds

Leave a Reply

Your email address will not be published.